Thoughts For Students In Hindi विद्यार्थी और विद्याप्राप्ति

Thoughts 

ज्यादातर लोग कहते हैं कि लोहे के चने चबाना तो बड़ा ही आसान है परंतु विद्याध्ययन करना कठिन हैThoughts

और यह बात सच भी है विद्या प्राप्ति के लिए जो विद्यार्थी हैं जो शिष्य हैं उनको एक कठिन तपस्या करनी पड़ती है

Thoughts in hindi on education

thoughts in hindi on educationमहाभारत में भी कहा गया है जिनको सुख चाहिए जो सुख चाहते हैं वह विद्या को प्राप्त नहीं कर सकते और जो विद्याध्ययन चाहते हैं उन्हें सब सब प्रकार के सुखों का त्याग करना जरूरी हो जाता है। यदि आप यह चाहते हैं कि विद्याध्ययन के समय वह सब प्रकार के सुख प्राप्त कर लें और साथ ही विद्या भी पढ़ ले ऐसा बिल्कुल भी नहीं हो सकता विद्या और सुख का तो वायु और मच्छर के समान स्वाभाविक बैर है। Thoughts in hindi

Thoughts in hindi

आज मैं आपको छोटी सी कहानी सुनाता हूं जिसको सुनकर आपको काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

एक बार कुछ मच्छर न्यायालय में जाकर निवेदन करने लगे कि वायु हमें बहुत कष्ट देता है जज ने कहा कि मैं वायु को बुलाकर पूछता हूं जैसे ही वायु आया मच्छर इधर उधर उड़ गए। वो वायु के सामने ठहर नहीं सके विद्या और सुख का भी ऐसा ही संबंध है।

विद्या प्राप्ति के लिए विद्यार्थी अनेक प्रकार के कष्ट उठाते हैं पेट भर भोजन भी नहीं करते जी भर कर सो नहीं पाते यदि विद्यार्थी खूब पेट भर कर खाएगा तो उसे नींद सताएगी और वह पढ़ नहीं सकेगा इसलिए जो विद्यार्थी विद्या प्राप्त करना चाहते हैं वह सदा ही थोड़ा खाते हैं जिसके कारण उनकी जो जीवन सकती है नष्ट ना होने पाए और वह विद्या प्राप्त कर सकें। Thoughts for school

पढ़ने वाला विद्यार्थी देर तक सोता भी नहीं वह सोने में भी समय का थोड़ा ही भाग लगाता है शेष विद्याभ्यास में लगाता है।

अनेक प्रकार के खिलौने खेल और मनोरंजन उसे विद्यार्थी दूर ही रहता है वहीं सब सुखों को छोड़ देता है।

सदा याद रखो यदि कोई विद्यार्थी विद्याध्ययन के समय सुख के लिए प्रयत्न करता है तो वह विद्या नहीं प्राप्त कर सकता वह मूर्ख ही रह जाएगा और जीवन भर दुख ही उठाता रहेगा। hindi thoughts on success

यदि विद्यार्थी विद्याध्ययन के समय अनेक प्रकार के कष्टों को उठाकर भी विद्या प्राप्त करेगा तो वह जीवन पर्यंत सुखी पायेगा। Motivational Stories For Students

Brahmacharya रक्षा के उपाय Students के लिए 

शिक्षा- इसलिए विद्यार्थियों को चाहिए कि वह एकाग्रचित होकर पढ़ें जो भी गुण वह जिससे भी प्राप्त कर सके उन्हें उन से ही प्राप्त करने का यतन करना चाहिए। विद्यार्थियों का सदा यही लक्ष्य होना चाहिए कि हम विद्वान बन जाएं यह विचारकर ही विधार्थी अपना जीवन सफल कर सकते हैं इससे ही उसका उसके परिवार का और उसके देश का यश बढ़ेगा

Follow Us On Bharat Yogi On Youtube

Follow Us On Bharat Yogi On Facebook

Thoughts In Hindi On Education,motivational stories for students to work hard in hindi,Motivational Stories For Students

Leave a Reply