शवासन के बारे में पूरी जानकारी savasana benefits in hindi

शवासन savasana in hindiशवासन यानी की शव के समान आसन जिस प्रकार शव याने मरे हुए इंसान में कोई हलचल नही होती उसी प्रकार इस आसन में भी कोई हलचल नही होती। आजके मनुष्य की जीवन शैली काफी बेकार हो चुकी है जिसके कारण उसे अनेको रोग होने लगे है। आज के इंसान को टेंसन भी काफी रहती है जिसके कारण रात को नींद भी अच्छी नही आती। यदि आप इस शवासन को करना सिख ले तो आपको काफी सारे लाभ होंगे और आपका दिन काफी अच्छा बीतेगा तो आइये जानते है शवासन कैसे करते है।

शवासन करने का तरीका

1, किसी साफ़ सुथरी और हवादार स्थान का चुनाव करे।

2, अब एक साफ़ दरी बिछाकर जमींन पर लेट जाइए।

3, अब पुरे शरीर को ढीला छोड़ दीजिये ध्यान रहे पैर के अंगूठे से लेकर सिर की छोटी तक कंही भी किसी भी प्रकार की हलचल ना होने पाय।

4, अब एक बार पैर के अंगूठे से सिर की चोटी तक निरीक्षण कीजिये कंही कोई हलचल ना हो।

5, अब अपना पूरा ध्यान अपनी साँसों पर केंद्रित कीजिये।

6, पुरे शरीर को भूल जाइए और पूरा ध्यान सिर्फ साँसों पर ही लगा दीजिये।

7, कुछ ही देर में आपको विचार आने लगेंगे तभी सावधान हो जाइये और अपनी साँसों पर वापस ध्यान केंद्रित कीजिये।

8, इस आसन को आप अपनी सुविधा के अनुसार कितने भी समय तक कर सकते है। और इस आसन को करते हुए ही रात को आप सो भी सकते है।

शवासन के लाभ

1, जिनको रात को नींद नहीं आती उन्हें इस शवासन को करने से अच्छी नींद आती है। यदि आपको नींद नहीं ऑटो तो आप ये आसन जरूर कीजिये।

2, उच्च रक्तचाप के रोगियो को इस आसन से काफी लाभ हुआ है । इस आसन को करने से आपका उच्च रक्तचाप का रोग जल्दी ही ठीक होगा।

3, ये आसन तनाव को कम करता है।

4, दिमाग तेज होता है।

सावधानी, किसी भी आसन को उचित शिक्षक की देख रेख में ही करे।

मित्रो उमीद है की आपको ये लेख पसन्द आया होगा और आप इस लेख से लाभान्वित होंगे। अपने मित्रो से भी इस लेख को शेयर जरूर करे।

चक्रासन कैसे करें