Pregnancy में क्या खाएं – 9 month pregnancy in hindi

pregnancy me kya khana chahiyePregnancy में यदि शुरू से ही बालकों का खान पान का पूरा ध्यान रखा जाए तो वे जीवन भर स्वस्थ रहेंगे। 9 month pregnancy यदि माताएं निचे बताई गई बातों का ध्यान रखेगी तो स्वस्थ बच्चे जन्म लेंगे। pregnancy के समय यदि माताएं अपने खाने पिने का उचित ध्यान रखे तो बच्चे भी स्वस्थ पैदा होंगे। शिशुओं के खान पान का समय माता की गर्भवावस्था (pregnancy) से ही आरम्भ हो जाता है।  इसी समय से खान पान पर ध्यान देना चाहिए।

Pregnancy me kya khana chahiye

नारंगी : गरभवती महिला को रोज दो नारंगी दोपहर में खिलाते रहने से होने वाला शिशु सुन्दर होता है।

मोसमी : मोसमी में केल्सियम अधिक मात्र में होता है। गरभवती महिलाओं और गर्भाशय के शिशु को शक्ति प्रदान करने में इसका रस पोष्टिक है।

नारियल : नारियल का गोला और मिसरी खाने से प्रसव में दर्द नही होता। सन्तान हष्ट पुष्ट होती है।

शहद : गर्भावस्था में रक्त की कमी आजाती है। इस समय खून बढ़ाने वाली चीजों का सेवन अधिक किया जाना चाहिए।  महिलाओं को दो चमच शेहद रोज पिलाते रहने से रक्त की कमी नही होती और शक्ति आती है।  बच्चा मोटा ताजा होता है। गर्भवती महिलाओं को आरम्भ से ही या अंतिम तिन माह में दूध और शहद पिलाने से बच्चा स्वस्थ और आकर्षक होता है।

दूध : गर्भवती महिलाओं को देसी गाएँ का दूध अवश्य पीना चाहिए। देसी गाएँ का दूध पिने से आपके बच्चे को ताकत मिलेगी। देसी गाएँ के दूध में वो शक्ति है जो आपके होने वाले बच्चे को ताकतवर और बुद्धिशाली बना सकता है। लेकिन दूध देसी गाएँ का ही होना चाहिए।

पानी : Pregnancy के समय माताओं को पानी अधिक पीना चाहिए।

सेब : सेब का सेवन रोज करें इससे आपको कोई रोग नहीं सताएगा और आपका बच्चा स्वस्थ पैदा होगा। रोज 2 सेब जरुर खाइए।

सात्विक आहार : pregnant ladies को इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए की वो हमेशा शुद्ध और सात्विक भोजन ही करे। सात्विक भोजन जैसे, देसी गाएँ का दूध , घी, छाछ , हरी सब्जियां , फल आदि।

शाकाहारी भोजन : हमेशा शाकाहारी भोजन को महत्व दे। शाकाहारी भोजन करने से आपके बच्चे काफी सारे रोगों से बच सकते है।

मासा हारी भोजन छोड़े : pregnant ladies मासा हारी भोजन कभी ना करें। आज सबसे ज्यादा समाज में भ्रान्ति ये ही फैली हुई है की मासाहारी भोजन से ताकत मिलती है। ये सबसे बड़ा भ्रम है मासाहारी भोजन से ताकत नही मिलती सिर्फ चर्बी बढती है। आप अपने चारो तरफ देख सकते है की ताकतवर मासाहारी है या शाकाहारी। हाथी शाकाहारी है और सबसे ताकतवर है। गैंडा शाकाहारी है और ताकत वर है। शेर मासाहारी है और अकेले इनका शिकार नही कर सकता।

कहने का मतलब ये है की यदि आप चाहती है की आपका होने वाला बच्चा स्वस्थ और ताकतवर हो तो शुद्ध शाकाहारी भोजन ही करें।

सेक्स ना करें :  pregnant ladies को इस बात का खासतोर से ध्यान रखना चाहिए की जब पेट में बालक हो तो कभी भी सेक्स ना करें। ज्यादातर डाक्टर कहते है की pregnant ladies को सेक्स करने में कोई परेशानी नही होगी। लेकिन ये बिलकुल गलत बात है। यदि ग्रभावस्था में सेक्स करेंगी तो आपके बच्चे चरित्रवान और बुद्धिशाली नही होंगे। क्योंकि जेसा आप ग्रभावस्था के दोरान जैसे वेव्हार करेंगे वैसे ही बच्चों पर संस्कार पड़ेंगे।

देसी चना : देसी चने को गेहूं के साथ मिलाकर पिस्वाएं और उसकी रोटी खाएं इससे आपको अधिक ताकत मिलेगी।

हरी सब्जियां : हरी सब्जियों का सेवन अधिक से अधिक करें। हरी सब्जियों के सेवन से आपके बच्चे का विकास बेहतर होगा।

पालक : रोज सुबह 5 पत्ते पालक के खाएं इससे आपको ताकत मिलेगी और खून भी बढेगा। इस पालक के सेवन से आपका बच्चा बुद्धिशाली होगा और उसे कोई भी जन्मजात रोग नही होगा।

 रक्त वृधि : आधा गिलास गाजर का रस, आधा गिलास दूध व स्वादानुसार शहद मिलाकर रोज पिने से कमजोरी दूर होती है और शरीर में खून बढ़ता है।

बच्चों की गुदा की फुनसियों का इलाज
bachchon ki funsi ka gharelu upchar

प्राय: जन्म के बाद प्रथम एक साल तक यह पाया जाता है। माँ के दूध में खराबी होने से पेशाब – टट्टी के बाद गुदा की सफाई उचित रूप से ना करने से, स्नान के बाद इस भाग को अच्छी तरह से ना सुखाने से या ज्यादा पसीना आने से गुदा में फुन्सियाँ निकल आती हैं। उनका रंग लाल होता है। अधिक बढ़ने से इनमें घाव पैदा होता है। जिससे खून निकलता है।

बच्चों की फुंसी का इलाज – funsi ka ilaj in hindi

1 . तुलसी के पत्ते पीसकर उनका लेप लगाएं।

2 . मक्खन में हल्दी मिलाकर उसका लेप लगाएं। ( साबुत हल्दी को घर पर ही पिसलें बाजार से हल्दी ना खरीदे क्योंकि बाजार की हल्दी मिलावटी होती है नकली होती है। )

3 . हरी दुब पिस कर लगाएं।

baby care tips

Tag: pregnancy diet in hindi, Tips For Pregnant Women In Hindi , Pregnancy Care In Hindi, pregnancy me kya khana chahiye in urdu, pregnancy tips , #pregnancy tips for normal delivery in hindi , Pregnancy Tips For Normal Delivery in Hindi, How can I get pregnant ?

6 thoughts on “Pregnancy में क्या खाएं – 9 month pregnancy in hindi

Comments are closed.