पायरिया का इलाज घरेलू नुस्खों द्वारा

pyorrhea पायरिया के कारण और उपचार
Pus in Gums, pyorrhea treatment homeopathy

दांतों के अनेक रोगों में एक मुख्य रोग है ‘पायरिया‘ । जिसे आयुर्वेद में ‘पूति दंत’ कहते हैं

  • लक्षण – पायरिया दांतों का एक भंयकर रोग है। दांतों से खून निकलना। पीव दांतों से अपने आप रिसती रहती है । वह मसूड़ों को दबाने मात्र से निकल आती हैं मुख में दुर्गन्थ आने लगती है। दांतों की जड़े कमजोर होकर दांत हिलने लगते हैं इसका असर पाचन शक्ति को भी छूलेता है पिव के पैर खून में फैल जाते हैं ।                                                                                                                                                                                                 
  • परिणाम : मैदा, आँख, कान, नाक आदि के अनेक रोग जन्म ले लेते हैं।                                                                                                                                     
  • कारण – कुल्ला भली- भाँति न करना। मंजन और दांतून एवं ब्रुश का समुचित प्रयोग न करना  गरम-शीत पदार्थों का विषम संयोग मिलाना। भोजन के कण दांतों के मध्य रह जाना । यें कण दांतों में सडन पैदा करते हैं और मसूड़ों के मांस को गलाने में सक्रिय रहते हैं । इन कारणों से इसकी उत्पत्ति होती है ।                                                                                                                                                                                                     
  • ओषधी: आंवला (जला हुआ) तेल और नमक।                                                                                                                                                                
  • निर्माण – जला हुआ आंवला और नमक दोनों को अलग-अलग बारीक चूर्ण बनाएं फिर इनको सरसों के तेल के साथ मिलाएं ।                                                                                                                                                                                         
  • प्रयोग – सुबह-शाम दोनों समय इस मंजन को करें ।                                                                                                                                                        
  • परिणाम – पायरिया का पाव खिसक जाता है ।                                                                                                                                                                
  • औषधि – खशखश. इलायची और तेल।                                                                                                                                                                         
  • निर्माण – दोनों का बारीक चूर्ण बनायेँ । चूर्ण को लोंग के तेल में खूब भली… भांति मिलाये।                                                                                                                 
  • प्रयोग – इसका अच्छी तरहें मंजन करे।                                                                                                                                                                      
  • परिणाम – पायरिया की बिमा योजना (life insurance) समाप्त हो जाता है । यानी की आप रोग मुक्त हो जाते हैं 

कुछ और महत्व पूर्ण जानकारी :-

  • अमरुद भी पायरिया की बीमारी और दांतों के विभिन रोगों में लाभदायक होता है, आप जानते ही होंगे की अमरुद में विटामिन c होता है, जो की दांतों के लिए काफी फाएदे का होता है तो अमरुद खाएं ।                                                                                                                                                                                                                     
  • नीम वैसे नीम के गुणों से सभी परिचित हैं नीम समस्त प्राणियों के लिय एक समान लाभ दायक है आप रोज नीम के कोमल पत्ते चबा चबा कर खाएं नीम की दातुन करें।                                                                                                                                             
  • आंवला तो गुणों की खान है ये आपके दाँतों के लिए बेहद उपयोगी है, और साथ में आपका खून साफ़ करेगा , खून बढ़ाए गा पाचन शक्ति मजबूत करेगा ।                                                                                                                                                                 
  • संतरा का भी प्रयोग करें दाँतों के लिए ये भी काफी लाभदायक है।                                                                                                                                               
                   

NOTE- (SHREE D.B.G चटोरी नमकीन वालों की तरफ से)  यदि आपको नजला (najla) रहता है तो आप हमसे इसका पक्का इलाज करवा सकते हैं और आप 100% ठीक होंगे ये हमारा अभी तक का अनुभव है और ये इलाज फ्री है तो घबराना कैसा आप हमे इस नम्बर पर whatsapp करें 09671963133 या हमे मेल करें [email protected] प्राणी मात्र की सेवा करो। 

(दोस्तों SHREE D.B.G चटोरी नमकीन वालों की चटोरी नमकीन भी काफी स्वादिष्ट है और मात्र 250 रुपय में 1 kg भेज देते हैं आप भी एक बार खाकर देखीय यकीन मानिय स्वाद नही भूल सकेंगे आप इस नम्बर पर फ़ोन कर सकते हैं 09671963133)



आप हमें facebook पर लाइक करें और हमारा उत्साहा बढ़ाएं और हमारे नए लेख प्राप्त करें https://www.facebook.com/maabharti
यदि आपको लगता हे की ये लेख किसी के लिए उपयोगी सिद्ध हो सकता हे तो अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करें। 
keyword: cure pyorrhea, natural cure pyorrhea, home remedies pyorrhea, medicine pyorrhea, pyorrhea treatment in hindi (Pus in Gums),pyorrhea treatment homeopathy, treatment for pyorrhea gum disease