गोमूत्र के बारे मेँ सामान्य जानकारी

गायें और गोमूत्र की परिभाषा
goo mata, indian cow, cow urine
                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                           
प्रश्न 1 : गोमूत्र (goo mutra) किस गाय का लेना चाहिए?

उत्तर … जो वन में विचरण करके, व्यायाम करके इच्छानुसार घास का सेवन करे, स्वच्छ पानी पीवे, स्वस्थ हो गौ का गोमूत्र ओषधिगुणवाला होता है।

प्रश्न 2 : गोमूत्र किस आयु की गौ का लेना चाहिए?

उत्तर – किसी भी आयु की- बच्ची; जवान, बूढी-गौ का गोमूत्र औषधि प्रयोग में काम मेँ लाना चाहिए।

प्रश्न 3 : क्या बैल, छोटा बच्चा या बुढा बैल का भी गोमूत्र औषधि उपयोग में आता हैं?

उत्तर – नर जाति का मूत्र अघिक तीक्ष्ण होता है, पर औषधि उपयोगिता में कम नहीं है, क्योकिं प्रजाति तो एक ही है। बैलों का मूत्र सूँघने से ही बंध्या (बाँझ) को सन्तान प्राप्त होती है। कहा है।

ऋषभाष्याफि जानामि राजन् पूजित्तलक्षणान्।
                                  येषां मूत्रामुपाधाय, अपि बंध्या प्रसूयत्ते।                                                                                                                     (संदर्भ -महाभारत विराटपर्व).

अर्थ : उत्तम लक्षण वाले उन बैलों की भी मुझे पहचान है, जिनके मूत्र को सूंघ लेने मात्र से बंध्या स्त्री गर्भ धारण करने योग्य हो जाती है।

प्रश्न 4 : गोमूत्र को किस पात्र मे’ रखना चाहिए?

उत्तर – गोमूत्र को ताँबे या पीतल के पात्रा में न ररवें। मिट्टी, काँच, चीनी मिट्ठी का पात्र हो एवं स्टील का पात्र भी उपयोगी है।

प्रश्न 5 : कब तक संग्रह किया जा सकता है ?

उत्तर – गोमूत्र आजीवन चिर गुणकारी ‘होता है। धूल न गिरे, ठीक तरह से ढंका हुआ हो, गुणों में कभी खराब नही होता है। रंग कुछ लाल, काला ताँबा व लोहा के कारण हो जाता है। गोमूत्र मैं गंगा ने वास किया है। गंगा जल भी कभी खराब नही होता। पवित्र ही रहता है। किसी प्रकार के हानिकारक कीटाणु नही होते

प्रश्न 6 : जर्सी गाएं के वंश का गौ मूत्र लिया जाना चाहिए या नही?

उतर – नही लेना चाहिए 

मित्रों यदि आपको ये लेख पसंद आया तो आप हमें facebook पर लाइक करें और हमारा उत्साहा बढ़ाएं और हमारे नए लेख प्राप्त करें https://www.facebook.com/maabharti