muzaffarnagar के दंगो ka sach

 Photo: ये फोटो आज के दैनिक जागरण मेँ छपा है। फोटो मेँ कुछ लोगोँ के सिर पर लगी टोपी को देखकर आप अच्छी तरह समझ सकते हैँ कि ये शांतिप्रिय धर्म के लोग हैँ। मुजफ्फरनगर मेँ कर्फ्यू के बाद भी ये लोग एक जगह इकट्ठे कैसे हो गये....? इस फोटो मेँ कई लोगोँ के चेहरे साफ नजर आ रहे हैँ। क्या इन पर कोई कार्रवाई करेगा..??? , अगर आप सोचते हैँ कि इन पर कोई भी कार्रवाई होगी तो आप उच्च श्रीणी के राहुल गाँधी (बुद्धू) हैँ। , अरे भाई इंडिया एक ऐसा सेकूलर देश बन गया है। जहाँ कार्रवाई सिर्फ हिन्दुओँ के खिलाफ होती है, शांतिप्रिय धर्म के लोगोँ के खिलाफ नहीँ...
 1. क्या मीडिया ने दिखाया की चार मस्जिदों को सील किया गया…? जी हाँ मित्रो अथाह असलाह मिलने के कारण चार मस्जिदों को सील किया गया है ! मस्जिदों के अन्दर से AK-47 का जखीरा पाया गया !

2. शामली के बेहद लोकप्रिय मुस्लिम डॉक्टर के हॉस्पिटल से एम्बुलेंस के अन्दर से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए जिनमे AK-47 से लेके हैण्ड ग्रेनेड तक
शामिल थे !

3. शामली के ही एक और छुटभैय्ये नेता (मुस्लिम) के घर से बांग्लादेशी मुस्लिम हथियार सहित पकडे गए जिन्हें आर्मी ने नेता सहित मौके पर ही ढेर कर दिया !

4. मुज़फ्फरनगर के ही एक और नेता के घर से भी असलाह बरामद किया गया ! ऐसे ही सैकड़ो घरो से असलाह बरामद किया गया !

5. चार हथियार से भरे ट्रक आर्मी ने जब्त किये जो शांतिप्रिय जमात में बटने के लिए जा रहे थे ! असलाह में मुख्य रूप से हैण्ड ग्रेनेड और AK-47 की बरामदगी हुई !

6. गाँव किरथल में BSF में तैनात एक शांतिप्रिय के घर से AK-47 के कारतूस भारी मात्रा में बरामद किये गए !

7. गंगनहर पर हुए कत्लेआम में काफी हिन्दुओ की जाने चली गयी ! उनके शरीर से AK-47 की गोलिया मिलना किस और संकेत करता है…? हिन्दुओ आँखे खोलो !

8. मुज़फ्फरनगर के दंगो को पूरी तैय्यारी के साथ अंजाम दिया गया ! सेना की सहायता से हिन्दुओ के मोर्चा सँभालने से ही बाज़ी पलट गयी

One thought on “muzaffarnagar के दंगो ka sach

Comments are closed.