Daily Mail ” में प्रकाशित हुई एक घटना जो बताती हे की इन्सान कितना बड़ा हेवान हो सकता हे ,दिनांक 4 फरवरी !

अभी हालिया में जब दिल्ली रेप की घटना हुई तो कई बेवकूफों ने फेसबुक पर देखकर अरब के शरिया कानून की बात करी ,
अब इसी संदर्भ में हम आपको एक घटना बताने जा रहे हैं जो हालिया में ” Daily Mail ” में प्रकाशित हुई ,दिनांक 4 फरवरी !

यह जल्लाद ,सूअर है इस्लाम का प्रसिद्ध प्रचारक जिसका नाम है शेख फयहन-अल-घामदी , इस जानवर ने अपनी ही 5 साल की बेटी के साथ वो वो करा जो किसी भी मामले से दिल्ली में हुई घटना से कम नहीं था , इसने अपनी ही 5 साल की बेटी लामा के साथ कई बार बलात्कार किया क्योंकि इसको शक था की इसकी 5 साल की बेटी वर्जिन नहीं है ,मतलब इसकी बेटी ने पहले सेक्स कर रखा है , इस छोटी सी बच्ची की अक्टूबर में मौत हो चुकी है , जो अत्याचार हुआ इस गुडिया के साथ वो निन्मलिखित है –
1)बच्ची की कमर तोड़ दी गयी थी
2)कई बार बलात्कार किया गया था
3)सर की हड्डी तोड़ दी गयी थी
4)पूरे शारीर पर आग से दागने के निशान मिले
5)बायें हाथ की हड्डी तोड़ दी गयी थी
6)कई पसलियाँ टूटी हुई मिली

अब आप सोचेंगे की इसे तो फांसी की सजा मिली होगी ,नहीं ऐसा कुछ नहीं हुआ बल्कि यह जल्लाद आज खुले आम घूम रहा है 3 महीने की जेल के बाद क्योंकि इस न्यूज़ के अनुसार शरिया(इस्लामी कानून ) में अपनी बीवी और बच्चे के क़त्ल में फांसी नहीं दी जा सकती इसलिए इसे 27 लाख रुपया (50000 $) की ” Blood Money ” के बाद छोड़ दिया गया जो इसने बच्ची की माँ यानि अपनी पत्नी को दी !! अगर इसने ऐसा वाक्या अपने बेटे के साथ किया होता तो इसको दोगुनी ” ब्लड मनी ” देनी पड़ती !!येही है इस्लामी कानून , अगर इस पोस्ट पर किसी को विश्वास न हो इसके साथ संलग्न लिंक को खिलकर पढियेगा !! जय भारत माता !!
इसे शेयर करिए और सच को बोलने की हिम्मत रखिये और अपने सामने खड़े खतरे को पहचाने अन्यथा बहुत देर हो जाएगी !!

http://www.dailymail.co.uk/news/article-2273171/Fayhan-al-Ghamdi-raped-tortured-daughter-5-death-escapes-light-sentence.html#axzz2JyLsKo7j

http://www.examiner.com/article/saudi-imam-rapes-tortures-5-yr-old-daughter-because-he-doubted-her-virginity

साभार :- Bhagat Nishant Singh

अभी हालिया में जब दिल्ली रेप की घटना हुई तो कई बेवकूफों ने फेसबुक पर देखकर अरब के शरिया कानून की बात करी , अब इसी संदर्भ में हम आपको एक घटना बताने जा रहे हैं जो हालिया में " Daily Mail " में प्रकाशित हुई ,दिनांक 4 फरवरी !  यह जल्लाद ,सूअर है इस्लाम का प्रसिद्ध प्रचारक जिसका नाम है शेख फयहन-अल-घामदी , इस जानवर ने अपनी ही 5 साल की बेटी के साथ वो वो करा जो किसी भी मामले से दिल्ली में हुई घटना से कम नहीं था , इसने अपनी ही 5 साल की बेटी लामा के साथ कई बार बलात्कार किया क्योंकि इसको शक था की इसकी 5 साल की बेटी वर्जिन नहीं है ,मतलब इसकी बेटी ने पहले सेक्स कर रखा है , इस छोटी सी बच्ची की अक्टूबर में मौत हो चुकी है , जो अत्याचार हुआ इस गुडिया के साथ वो निन्मलिखित है - 1)बच्ची की कमर तोड़ दी गयी थी 2)कई बार बलात्कार किया गया था 3)सर की हड्डी तोड़ दी गयी थी 4)पूरे शारीर पर आग से दागने के निशान मिले 5)बायें हाथ की हड्डी तोड़ दी गयी थी 6)कई पसलियाँ टूटी हुई मिली  अब आप सोचेंगे की इसे तो फांसी की सजा मिली होगी ,नहीं ऐसा कुछ नहीं हुआ बल्कि यह जल्लाद आज खुले आम घूम रहा है 3 महीने की जेल के बाद क्योंकि इस न्यूज़ के अनुसार शरिया(इस्लामी कानून ) में अपनी बीवी और बच्चे के क़त्ल में फांसी नहीं दी जा सकती इसलिए इसे 27 लाख रुपया (50000 $) की " Blood Money " के बाद छोड़ दिया गया जो इसने बच्ची की माँ यानि अपनी पत्नी को दी !! अगर इसने ऐसा वाक्या अपने बेटे के साथ किया होता तो इसको दोगुनी " ब्लड मनी " देनी पड़ती !!येही है इस्लामी कानून , अगर इस पोस्ट पर किसी को विश्वास न हो इसके साथ संलग्न लिंक को खिलकर पढियेगा !! जय भारत माता !! इसे शेयर करिए और सच को बोलने की हिम्मत रखिये और अपने सामने खड़े खतरे को पहचाने अन्यथा बहुत देर हो जाएगी !!  http://www.dailymail.co.uk/news/article-2273171/Fayhan-al-Ghamdi-raped-tortured-daughter-5-death-escapes-light-sentence.html#axzz2JyLsKo7j  http://www.examiner.com/article/saudi-imam-rapes-tortures-5-yr-old-daughter-because-he-doubted-her-virginity   साभार :- Bhagat Nishant Singh
साभार :- Bhagat Nishant Singh

One thought on “Daily Mail ” में प्रकाशित हुई एक घटना जो बताती हे की इन्सान कितना बड़ा हेवान हो सकता हे ,दिनांक 4 फरवरी !

  1. कौशलेन्द्र

    यदि शरीयत में ऐसा कानून है तो निश्चित ही यह बहुत ही अन्यायपूर्ण है। किसी भी सभ्य समाज में ऐसे कानून को मान्यता नहीं दी जा सकती। कुछ लोग भारत की पहचान मिटाकर इसे इस्लामिक देश बनाने की मुहिम में जुटे हुये हैं।

Comments are closed.