भगवान BUDH ने कहा खोजो पाओ अपने अनुभव से तो भरोसा करलेना।

Vipassana Meditation भगवान BUDH की अनमोल विदया

भगवान BUDH जिन्हें हम भगवान विष्णु का Avatar मानते हें लेकिन उनके विचारों से काफी डरते हें अब आप सोचते होंगे ऐसे कोनसे विचार हें वेसे आप लोग जानते ही होंगे अधिकतर लोग ये ही समझते हें की भगवान बुध के विचारों के अनुसार इस दुनिया में इश्वर का कोई अस्तित्व हे ही नही जब की ऐसा नही हे भगवान बुध ने कहा खोजो पाओ अपने अनुभव से तो भरोसा करलेना। जन्हा तक मेने उनको पढ़ा और समझा हे और उनकी शिक्षा को जाना हे उनकी बाते बिलकुल सही हे क्योंकि एक योगी इस संसार का सारा रहस्य जनता हे और वो ये भी जनता हे की किसी को केसे अध्यात्म में आगे लेजाना हे

2500 वर्ष पहले बुध ने वो खोजा जो आज भी सार्थक मालूम पड़ेगा और जो आने वाली सदियों तक सार्थक रहेगा बुध ने विश्लेष्ण दिया और जेसा सूक्ष्म विश्लेष्ण उन्होंने दिया कभी किसी ने न दिया था और फिर दुबारा ऐसा विश्लेष्ण कोई न दे पाया उन्होंने जीवन की समस्या के उत्तर शास्त्र से नही दिए विश्लेष्ण की प्रक्रिया से दिए वो धर्म के पहले वैज्ञानिक हें बुध ये नही कहते की भरोषा करलो वो कहते हें की सोचो विचारो विश्लेष्ण करो खोजो पाओ अपने अनुभव से तो भरोसा करलेना

दुनिया के सारे सम्प्रदायों ने भरोसे को पहले रखा हे सिर्फ बुध को छोड़ कर दुनिया के सारे धर्मों में श्रधा प्राथमिक हे बुध ने कहा अनुभव प्राथमिक हे बुध कहते हे आस्था की कोई जरूरत नही हे अनुभव से खुद ही आस्था आ ही जाएगी बिना अनुभव के जो आस्था आयेगी उसमे शंका ज्यादा होगी इसलिए पहले ध्यान करो और जानो सत्ये को इश्वर को सत्ये मानने से पहले अनुभव करो ध्यान के द्वारा जब तुम अनुभव के द्वारा इश्वर को जानलोगे तो इश्वर के प्रति सच्चा प्रेम खुद ही जाग्रत हो जायेगा
 
चलिए में आपको एक छोटा सा उधाहर्ण देता हूँ अगर में आपको ये बताउं की मुझको भगवान श्री राम ने दर्शन दिए तो क्या आप यकीं करलेंगे कोई यकीन नही करेगा और अगर कोई यकीन करभी ले तो वो भ्रांतियों में ही फसा रहेगा और इसी शं से अंध विश्वास शुरू होता हे जब आप खुद साधना करेंगे और अध्यात्म की उस ऊंचाई तक पोहचेंगे तो खुद ही जानलेंगे की कोई इश्वर हे या नही और जो आपने जाना वो आपके लिए सत्ये हे और किसी के लिए नही क्योंकि सुनने वाले ने नही जाना अपनी अनुभूति पर नही उतारा इसलिए अगर वो यकीन करता हे तो उसको जीवन भर ये ही शख रहेगा की पता नही इश्वर हे भी या नही इसलिए भगवान बुध की बातों को माने और पहले साधना करें तभी सच 
जान पाएंगे । 

भगवान बुध के विचार बिलकुल वैज्ञानिक विचार हें इसी लिए आज के सम्यें में सभी पढ़े लिखे लोग भगवान बुध की बातों को ज्यादा मानते हें विज्ञानं भी यही कहता हे पहले खोजो जानो फिर यकीन करो वेसे विज्ञानं अध्यात्म से काफी पिच्छे हे क्योंकि विज्ञानं ने आज जो भी कुछ खोज की हे वो ही खोज की हे जो पहले से ही हमारे देश के योगी जान चुके थे क्योंकि एक योगी ही पुरे संसार का सच जानता हे

अगर आप भगवान बुध की विपश्ना विधि से ध्यान करते हें तो आप जान ही जायेंगे इस संसार का सत्ये वेसे ध्यान की और भी काफी सारी विधियाँ हे आप चाहें किसी भी विधि से ध्यान करें पूरी श्रधा से करें तो सत्ये आपसे दूर नही
विपश्यना सत्र्स के बारे में जानने के लिए इस लिंक पर जाएँ  http://www.dhamma.org/en/bycountry/ap/in/ 

4 thoughts on “भगवान BUDH ने कहा खोजो पाओ अपने अनुभव से तो भरोसा करलेना।

  1. om

    ये मनुष्य देह बड़ी अनमोल हे जो इसका सही दिशा में उपयोग करते हें वो मुक्त अवस्था को प्राप्त होते हें

Comments are closed.