क्या भुत प्रेतात्माएँ होती हें ? इसके पीछे का सच जाने

भुत, शेतान, प्रेतात्माएँ, पिशाच इन सब के बारे में आपने कई किस्से कहानियां सुनी होंगी क्या सच में प्रेतात्मा जेसी कोई ताकत होती हे । और ऐसे भी बोह्त्से लोग हें जिन्होंने इन प्रेत शक्तियों के साथ अपने अनुभव का जिक्र किया हे ।  इस प्रकार की कहानियों में ज्य्यादा तर लोगों की काल्पनिक कहानियाँ काम करती हें  । कुछ लोग इन प्रेतों की कहानियों में इतना अधिक विश्वाश करते हें की उनकी कल्पना में सोचे गए चित्र उनके सामने प्रकट होते हें । और ऐसे लोगों का उच्चित इलाज न हो तो क्या तो ये लोग पागल होजाते हें या फिर मर जाते हें । 
सोलहवीं शताब्दी में, तो लोगो नें सारी हदें ही पार कर दी उस समय टोने टोटके इतने अधिक प्रचलित थे की उस समय किसी पर ये शक होता की ये वैय्क्ति टोने टोटके करता हे या इसका किसी भुत प्रेत से संभंध हे तो उसे मोत के घाट उतार दिया जाता था । कुछ भी कहें कुछ लोग तो कल्पना का शिकार होकर मारे जाते हें । 
लेकिन एक बात सच हे इस दुनिया में बहूत सी ऐसी शक्तियां हें । जिन्हें ज्यादातर इन्सान नही जानते क्योंकि ये शक्तियां आम इन्सान की पहुंच से बहोत दूर हें ।  
इस संसार के आलावा एक जगत और भी हे जिसे शुक्षम जगत कहते हें । अब जो बातें बताने जारहा हूँ आपमें से ज्यादातर लोग यकीन नही करेंगे कहेंगे ये पागल हे ।  परन्तु जो लोग अध्यात्म से जुड़े हें वो समझ जाएँगे । 
इस जगत के आलावा एक जगत और हे जिसे सूक्षम जगत कहते हें । वहां तक साधारण इन्सान की पहोंच नही हे परन्तु योगी वहां तक पहुंच सकतें हे । सूक्षम जगत के निवासी भोतिक शारीर न होने के कारण ( हाड़ माश का शरीर ) हमारे लिए अद्रिशेयं आत्माएं हें । प्रन्तुं इन आत्माओं की शेत्र शीमा हें ।  जिस प्रकार हम अपने भोतिक शारीर तक सिमित हें । और ये आत्माएं हमारे लोक तक नही आसक्ति । 
फिर भी सूक्षम जगत की ऐसी बहूत सी आत्माएं हें । इन आत्माओं की इस संसार से इतनी अधिक आसक्ति हे की वों इस पृथ्वी से बंधे हुए हे । परन्तु ऐसी आत्माओं में ज्यादातर लोगों को नुकशान पोहचाने की शक्ति नही होती यदि कोई वैय्क्ति मानसिक रूप से कमजोर हे ।  ऐसे वेय्क्तियों को ये आत्माएं अपना शिकार बना लेती हें ।  परन्तु इश्वर पर सच्ची शारदा रखने वाले वैय्क्ति का कभी कोई कुछ नहीं बिगड़ सकता । 
जो लोग ध्यान करतें हे । वैज्ञानिक विधियों द्वार जेसे क्रिया योग भगवान श्री कृष्ण जी की ध्यान की विद्या हे ।  विपशना ध्यान भगवान महात्मा बुध की ध्यान की विद्या हे । ये दोने विद्याएँ बहूत उचें दर्जे की ध्यान की विद्याएँ हे । 
इन विधियों से ध्यान करने वाले लोग इस संसार का और अपना सच जन जाते हें । और जो लोग नहीं जानते वो अग्यांतामें सब कुछ झूठ समझते हें । खेर कोई माने या न माने परन्तु इश्वर की शक्ति ही सबसे बड़ी शक्ति हे । ..

9 thoughts on “क्या भुत प्रेतात्माएँ होती हें ? इसके पीछे का सच जाने

  1. बेनामी

    Achchi jankari dene ke liye dhanyavad.

    Apne sahi kaha sabhi log isko nahi manenge aur na hi is tak pahuch sakenge. ye to keval aadhyatmik log aur ishwar par gahri aastha rakhne vale hi samajh sakenge.

    Sani singh Chandel,Allahabad
    http://www.facebook.com/sanialld

  2. Mayur Ahir

    जब कभीभी भुत प्रेतोकी बात होती थी तो मेरी जीग्यासा वहा जाग उठती थी ओर मेरी इसी जीग्यासा के कारन मुजे डर का एहसास हुआ अर्थात जब मे अंधेरे मे होता तो उन डरावनी कहानीयो ओर भुतो वाले फील्मो के क्रेक्टरो की कल्पना करता फीर जब अंधेरे मे आंखे धोखा खा जाती तो कोइ केहता कालाजादु कीया है कीसीने तो कोइ केहता प्रेत-आत्मा का साया है तो कोइ केहता पीत्रु है । एसेही अलग अलग लोग अलग अलग स्टेटमेन्ट देते पर अब मे बडा हो गया ओर ये भी समज गया हु की ये सब मन का भ्रम तो है ही साथमे हमारी कल्पना शक्ती की अझब-गझब काबीलीयत ही भुतोको काल्पनीक ढंगसे उत्पन्न करती हे । हाहाहा

  3. madan lal vishvakarma

    तंत्र विज्ञान कितना सच है ? यह किस आधार पर काम करता? कृपया विवरण सहीत समझावेँ

  4. madan lal vishvakarma

    तंत्र विज्ञान कितना सच है ? यह किस आधार पर काम करता? कृपया विवरण सहीत समझावेँ

  5. bharat yogi

    जरा इसे भी देखें
    दोस्तों अगर आप की अपनी वेब साईट हे और फेसबुक पर अपना पेज हे तो ये लिंक आपके बहूत काम का हे इस पर जाकर आप अपने वेब साईट और फेसबुक पेज पर हजारों प्रशंशक बुला सकते हें और अपने फेसबुक के पेज पर ज्यादा लाईक्स बडवा सकते हें मुझे इससे अपने फेस बुक पर अभी तक २०० लाइक्स मिले हें और मेरी वेबसाइट पर बहूत हिट्स मिलते हें आप भी अजमाकर देखें
    http://admf.cc/?URN7S2Z

Comments are closed.