आध्यात्म और प्राण उर्जा

ध्यान शब्द को सुनकर ही समज में आजाता हे । ध्यान का अर्थ क्या होगा ध्यान एक ऐसी क्रिया हे जिसे करने वाला साधक सदेव खुश, उत्साहित, संयमित, रहता हे। अध्यात्मिक रूप से देखें तो ध्यान कोई करने की वस्तु नही हे । ये स्वेम ही घटित होता हे परन्तु बहोत कम लोग ही एसे होते हे जिनको स्वेंम ही ध्यान घटित हो जाता हे । हमारे जेसे साधारण लोगों  को उस ल्क्षेय तक पहोंचने के लिए कुछ ध्यान की विसेस क्रियाएँ तो करनी ही पडती हे ध्यान शारीर और मन के लिए बहोत प्रभाव करी सिद्ध होता हे । और पढ़ें