बच्चो को अच्छी सिख देने वाली कहानी Kids Story In Hindi

Kids Story In Hindi नमस्कार दोस्तों दोस्तों आज आप भारत योगी पर एक ऐसी कहानी पढेंगे जिसको पढ़कर आपको जीवन में एक अच्छी सीख मिलेगी कुछ अच्छा करने की (Kids Story In Hindi) प्रेरणा मिलेगी और दोस्तों यह कहानी बच्चों को तो जरूर से भी जरूर पढ़नी चाहिए

 Kids Story In Hindi बच्चो को अच्छी सिख देने वाली कहानी दोस्तों काफी समय पहले की बात है एक काफी विशाल जंगल था और वहां पर एक काफी सुंदर और काफी बड़ा सेब का पेड़ था उस पेड़ पर रोज एक बच्चा आता और उस पेड़ पर खेलता और कभी दोस्तों पेड़ की डाली पर लटक जाता कभी उसके फल तोड़ता कभी उस पर उछल कूद मचाने लगता और जो सेब का पेड़ था वह भी उस बच्चे की उछलकूद से काफी ज्यादा खुश रहता था Kids Story In Hindi

Kids Story In Hindi बच्चों की कहानियाँ

इसी तरह दिन और रात भी बीते काफी वर्ष व्यतीत हो गए काफी वर्ष बीत गए और 1 दिन बच्चे ने अचानक वहां आना बंद कर दिया अचानक से कहीं चला गया था और फिर वह लौटकर भी नहीं आया और काफी समय तक जो पेड़ था उसका इंतजार करता रहा काफी समय तक इंतजार करने के बाद भी जब वह नहीं आया तो पेड़ काफी उदास उदास रहने लग गया था

Short stories in hindi with moral

फिर अचानक काफी सालों बाद काफी वर्षों बाद वह बच्चा वापस आया जब तक वह थोडा बड़ा हो चुका था काफी बड़ा हो चुका था और उसे देखा तो पेड़ काफी ज्यादा खुश हुआ और उसको कहा कि आओ खेलें पर जो बच्चा था जो काफी समय बाद आया था वह पेड़ से बोलता है कि अब मैं बड़ा हो गया हूं और अब मैं उसके साथ नहीं खेल सकता और बच्चा उस पेड़ को कहने लगा कि अब तो मुझे खिलौने अच्छे लगते हैं मैं खिलौने के साथ खेलना चाहता हूं लेकिन मेरे पास खरीदने के लिए पैसे नहीं है

तब पेड़ बोला कि मित्र तुम उदास ना हो मेरे जो फल (सेब) है तुम इन्हें बाजार में ले जाकर बेच दो बच्चा काफी खुश हुआ और उसने फल तोड़े और बाजार में जाकर बेच दिए फिर उसने वहां से खिलौने खरीदे और फिर से अचानक वह बच्चा वहां पर आना बंद हो गया और फिर पेड़ दोबारा उदास रहने लगा

काफी समय बाद वह बच्चा फिर आया तब वह काफी थका हुआ था

काफी उदासी भरे स्वर में पेड़ ने कहा अब तो ना मेरे पास में फल है ना ही मेरे पास में लकड़ी है अब मैं तुम्हारी कोई मदद नहीं कर पाऊंगा

तब वह बच्चा जो बूढ़ा हो चुका था वह बोला कि अब मुझे कोई सहायता नहीं चाहिए बस मुझे एक जगह चाहिए जहां पर मैं अपनी बाकी की जिंदगी गुजार सकूं तब पेड़ ने उसे अपनी जड़ों में पनाह दी और वह बुढा हमेशा पेड़ की जड़ों में ही रहने लगा

शिक्षा :- बच्चों हमें इस कहानी से शिक्षा मिलती है कि आज की जो नई पीढ़ी है वह अपने माता पिता से काफी सहायता लेती है बचपन से बड़े होने तक काफी सहायता लेते हैं लेकिन एक दिन वह उन्हें छोड़ कर चले जाते हैं और सिर्फ अपने स्वार्थ पूर्ती के लिए इधर से उधर भटकते हैं और तभी वापस आते हैं जब उन्हें कोई जरूरत होती है और धीरे-धीरे समय बीतता जाता है उसी प्रकार जीवन बीत जाता है हमें अपने माता पिता की सेवा करनी चाहिए

बच्चों इस कहानी में आपने देखा कि कैसे वह पेड़ उस बच्चे की मदद करता है उसके साथ में खेलता है और जब उसे जरूरत होती है तो उसे अपने फल भी देता है और वह उसे बेचकर खिलौने भी खरीद लेता है लेकिन जब बच्चे का स्वार्थ पूरा हो जाता है तब वह उस पेड़ के पास में नहीं आता उसके साथ में नहीं खेलता हमें इस प्रकार के स्वार्थ को भूलकर हमेशा एक अच्छा इंसान बनने की तरफ बढ़ना चाहिए

बुद्धिमान व्यापारी

चाहे आप कितने भी व्यस्त क्यों ना हो लेकिन फिर भी आपको अपने भाई बंधु जनों के लिए समय निकालना ही चाहिए

Kids Story In Hindi,बच्चों की कहानियाँ,hindi panchatantra stories,हिन्दी बाल कहानियाँ,hindi moral stories for class 3,short stories in hindi with moral,बच्चों की मनोरंजक कहानियाँ,बच्चों की छोटी कहानियाँ,बच्चों की कहानियाँ पिटारा,

Thoughts For Students In Hindi विद्यार्थी और विद्याप्राप्ति

Thoughts 

ज्यादातर लोग कहते हैं कि लोहे के चने चबाना तो बड़ा ही आसान है परंतु विद्याध्ययन करना कठिन हैThoughts

और यह बात सच भी है विद्या प्राप्ति के लिए जो विद्यार्थी हैं जो शिष्य हैं उनको एक कठिन तपस्या करनी पड़ती है

Thoughts in hindi on education

thoughts in hindi on educationमहाभारत में भी कहा गया है जिनको सुख चाहिए जो सुख चाहते हैं वह विद्या को प्राप्त नहीं कर सकते और जो विद्याध्ययन चाहते हैं उन्हें सब सब प्रकार के सुखों का त्याग करना जरूरी हो जाता है। यदि आप यह चाहते हैं कि विद्याध्ययन के समय वह सब प्रकार के सुख प्राप्त कर लें और साथ ही विद्या भी पढ़ ले ऐसा बिल्कुल भी नहीं हो सकता विद्या और सुख का तो वायु और मच्छर के समान स्वाभाविक बैर है। Thoughts in hindi

Thoughts in hindi

आज मैं आपको छोटी सी कहानी सुनाता हूं जिसको सुनकर आपको काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

एक बार कुछ मच्छर न्यायालय में जाकर निवेदन करने लगे कि वायु हमें बहुत कष्ट देता है जज ने कहा कि मैं वायु को बुलाकर पूछता हूं जैसे ही वायु आया मच्छर इधर उधर उड़ गए। वो वायु के सामने ठहर नहीं सके विद्या और सुख का भी ऐसा ही संबंध है।

विद्या प्राप्ति के लिए विद्यार्थी अनेक प्रकार के कष्ट उठाते हैं पेट भर भोजन भी नहीं करते जी भर कर सो नहीं पाते यदि विद्यार्थी खूब पेट भर कर खाएगा तो उसे नींद सताएगी और वह पढ़ नहीं सकेगा इसलिए जो विद्यार्थी विद्या प्राप्त करना चाहते हैं वह सदा ही थोड़ा खाते हैं जिसके कारण उनकी जो जीवन सकती है नष्ट ना होने पाए और वह विद्या प्राप्त कर सकें। Thoughts for school

पढ़ने वाला विद्यार्थी देर तक सोता भी नहीं वह सोने में भी समय का थोड़ा ही भाग लगाता है शेष विद्याभ्यास में लगाता है।

अनेक प्रकार के खिलौने खेल और मनोरंजन उसे विद्यार्थी दूर ही रहता है वहीं सब सुखों को छोड़ देता है।

सदा याद रखो यदि कोई विद्यार्थी विद्याध्ययन के समय सुख के लिए प्रयत्न करता है तो वह विद्या नहीं प्राप्त कर सकता वह मूर्ख ही रह जाएगा और जीवन भर दुख ही उठाता रहेगा। hindi thoughts on success

यदि विद्यार्थी विद्याध्ययन के समय अनेक प्रकार के कष्टों को उठाकर भी विद्या प्राप्त करेगा तो वह जीवन पर्यंत सुखी पायेगा। Motivational Stories For Students

Brahmacharya रक्षा के उपाय Students के लिए 

शिक्षा- इसलिए विद्यार्थियों को चाहिए कि वह एकाग्रचित होकर पढ़ें जो भी गुण वह जिससे भी प्राप्त कर सके उन्हें उन से ही प्राप्त करने का यतन करना चाहिए। विद्यार्थियों का सदा यही लक्ष्य होना चाहिए कि हम विद्वान बन जाएं यह विचारकर ही विधार्थी अपना जीवन सफल कर सकते हैं इससे ही उसका उसके परिवार का और उसके देश का यश बढ़ेगा

Follow Us On Bharat Yogi On Youtube

Follow Us On Bharat Yogi On Facebook

Thoughts In Hindi On Education,motivational stories for students to work hard in hindi,Motivational Stories For Students

ब्रह्मचर्य क्या है Brahmacharya Benefits Hindi

ब्रह्मचर्य का पालन कैसे करें

ब्रह्मचर्य व्रत का पालन सब मनुष्यों के लिए आवश्यक है छात्रों को तो विशेष रूप से इसका पालन करना चाहिए

ब्रह्मचर्य brahmacharya benefits

प्राचीन काल में ब्रह्मचर्य पूर्वक विद्याध्ययन होता था पढ़ने पढ़ाने की व्यवस्था आजकल के समान भोग-विलास के वातावरण में नहीं होती थी बाल्यकाल में यानी कि पांचवें छठे या आठवीं वर्ष में पिता अपने बच्चों को गुरु के पास शिक्षा ग्रहण करने के लिए भेजते थे

जब छात्र पढ़ने के उद्देश्य से आचार्य के समीप आ जाता है तब वो अंतेवासी कहलाता है आचार्य जी उसका उपनयन करके उसे दीक्षा देकर गुरुकुल में ही रखता है

ब्रह्मचारी भी गुरुकुल में रहता हुआ ज्ञानार्जन में तत्पर रहता है जैसे माता के घर में स्थित प्राणी के शरीर के अवयव समय पर पुष्ट हो जाते हैं उसी प्रकार गुरुकुल में रहते हुए ब्रम्हचर्य का पालन करते हुए छात्र के अज्ञान अंधकार को हटाकर आधिदैविक आधिभौतिक और आध्यात्मिक विद्याओं में प्रवीणता तथा आत्मा का विकास हो जाता है

इस प्रकार गुरु से दीक्षा पाकर ब्रम्हचर्य के तरफ से दबा हुआ ब्रह्मचारी जब कार्य क्षेत्र में आता है तब वह विषय वासनाओं में नहीं फंस सकता जैसे आज-कल विषय वासना में फंसे हुए भ्रष्टाचारी लोगों का हाल दिखता है ब्रम्हचर्य के बिना विद्याध्ययन केवल हास्यास्पद ही होता है विद्या अध्ययन के लिए समरण शक्ति आवश्यक है और ब्रह्मचर्य के नाश हो जाने पर स्मरण शक्ति कहां रहेगी यदि समरण शक्ति ना रहेगी तो विद्याध्ययन कैसा होगा?

ब्रम्हचर्य के पालन से ही मेहंदी शक्ति संचित हो जाती है ब्रम्हचर्य के तेल से भीष्म पितामह ने महाभारत के युद्ध में अद्भुत कौशल दिखाया था इसी के प्रताप से हनुमान ने समुद्र को लगा था परशुराम ने 21 बार धरती क्षत्रियों से सुनने की थी और वर्तमान युग में ब्रह्मचर्य के बल से ही महर्षि दयानंद वैदिक धर्म का प्रचार कर के अंधकार से गिरे हुए देश को प्रकाशित किया

विद्याध्ययन के समय ब्रम्हचर्य को सदा यह दोष छोड़ देना चाहिए

आलस्य,मद, मोह, गप्पे, चंचलता अभिमान और संग्रह करना विद्यार्थियों के यह  सात दोष माने गए हैं विद्यार्थी को विद्या कहां? विद्यार्थी को सुख कहां? या तो सुखार्थी विद्या को छोड़ दें या विद्यार्थी सुख को छोड़ दें

ब्रम्हचर्य का पालन करने से ही सब आश्रम सुखी हो सकते हैं ब्रहमचर्य ही सब आश्रमों का मूल है यदि ब्रम्हचर्य नहीं होगा तो सब नष्ट हुए के समान हैं यदि मूल ही नहीं तो शाखाएं कहां से होगी यदि मूल मजबूत है तो शाखा और पुष्प आदि अधिक मात्रा में होंगे

Brahmacharya रक्षा के उपाय बच्चों के लिए

यह बड़े दुख की बात है कि आजकल ब्रम्हचर्य का नाश करने वाले बहुत से साधन व्यवहार में आ रहे हैं

उनमें ऊपर से मनोहर दिखने वाले श्रृंगार रस से भरपूर सिनेमा कच्ची आयु में छात्रों को देखने को मिलते हैं तथा अंय अभी चित्र को लुभाने वाले ब्रम्हचर्य के घातक अनेक पदार्थ भोजन सामग्री में मिलते हैं इन्हीं कारणों से छात्रों की उन्नति नहीं हो पाती जिसका ब्रह्मचारी नष्ट हो जाता है उनके मुख मल इन गाल पिचके हुए तथा रोगआक्रांत होते हैं  ब्रह्मचर्य के नाश्ते छात्र विद्याध्ययन से विरक्त तथा उद्विग्न हो जाते हैं

शिक्षा-  इसलिए जो छात्र अपना कल्याण चाहते हैं उन्हें ब्रम्हचर्य का नाश करने वाले  विघ्नों से अपने को सदा बचाना चाहिए

how to practice brahmacharya,brahmacharya power,brahmacharya diet,brahmacharya benefits,brahmacharya ashram,brahmacharya yoga,brahmacharya pdf,brahmacharya meaning in hindi,

Follow Us On Bharat Yogi On Youtube

Follow Us On Bharat Yogi On Facebook

लालच पर कहानी लालच बुरी बला है धोखे बाजो से सावधान

लालच बुरी बला है धोखेबाजों से सावधान

लालच बुरी बला है

Hindi me kahani तो आपने काफी पढ़ी होंगी और ये hindi me kahani हमे अच्छी शिक्षा भी देती है ताकि हम अच्छे इन्सान बनसके उमीद आहे ये काहानी आपको पसंद आयेगी

 

 

lalach buri bala hai

एक तालाब के किनारे शेर रहता था उसके पास एक सोने का कड़ा था शेर धूर्त था वह उस कड़े का लोभ दिखाकर आने जाने वाले मुसाफिरों को अपना शिकार बनाता था लालच बुरी बला है

एक दिन एक सेठ जी तालाब के किनारे से होते हुए जा रहे थे शिकार को देखकर शेर पानी में जा बैठा जैसे ही सेठ जी शेर के पास पहुंचे शेर ने अपना शिकार फसाने वाला मंत्र पढ़ा ऐ मुसाफिर रुको मेरे पास एक सोने का कड़ा है आकर ले जाओ यह शब्द सेठ जी के कानों में पडे और रुक गए शेर ने फिर यही पुकारा सेठ जी ने सोचा ऐसा अवसर तो सौभाग्य से मिलता है

लालच पर कहानी लालच बुरी बला है

लेकिन शेर को देखकर डर गए सेठ जी सोचते रहे की क्या किया जाए कि जान भी बन जाए और सोने का कड़ा भी हाथ आ जाए सेठ स्वभाव के लालची थे साथ ही यह भी सोच रहे थे कि शेर मांसाहारी होता है इसके पास जाना तो जानबूझकर प्राण गवाना है लालच बुरी बला है

दूसरी ओर शास्त्र कहते हैं कि भूल कर भी नदी, शस्त्रधारी, मूर्ख व्यक्ति का विश्वास नहीं करना चाहिए सेठ जी ने शेर की परीक्षा लेनी चाहि पूछा दिखाओ तुम्हारे सोने का कड़ा कहां है?

लालच पर छोटी कहानी

शेर ने तुरंत हाथ पानी में से निकाल कर कड़ा सेठ जी को दिखा दिया सेठ जी ने कहा तुम तो हम लोगों को खाने वाले हो इसलिए मैं तुम पर विश्वास नहीं कर सकता शेर ने अपनी बात को जारी रखा और कहा

हे मुसाफिर मुझसे ना जाने कितने निर्दोष मनुष्य आदि की हत्या हुई है मेरी अज्ञानता के कारण बहुत पाप हुए हैं जिससे मेरा पूरा परिवार नष्ट हो गया अब मैं अपने पापों का प्रायश्चित कर रहा हूं मुझे एक महात्मा ने धार्मिक उपदेश दिया कि आप का प्रायश्चित तभी होगा जब आप दान पुण करें प्रतिदिन एक सोने का कड़ा दान देवें इसलिए मैं नित्य राहगीर को एक कड़ा दान में देता हूं लालच बुरी बला है

लालच का फल पर कहानी

सेठ जी शेर के धर्म वचन को सुनकर लालच में आ गए और जहां पहुंचा शेर के पास और बोला लाओ दे दो सोने का कड़ा शेर ने एक और अंतिम दाव खेला कि आप पहले तालाब में स्नान कर लेना तभी मैं कड़ा दूंगा सेठ जी जैसे ही वस्त्र निकालकर तालाब में पहुंचे तो शेर ने सेठ जी को तुरंत दबोच लिया और एक ही झटके में उसकी हत्या कर अपनी भूख को शांत किया

शिक्षा- मनुष्य को कभी भी लालच में आकर अविश्वसनीय पर विश्वास नहीं करना चाहिए दुष्टों का स्वभाव कभी नहीं बदलता अतः उन से दूर रहने में ही भलाई है

आप हमसे facebook पर भी जुड़ सकते है हमारे पेज को लाइक कीजिये                                                                    https://www.facebook.com/maabharti

hindi me kahani,hindi kahani,moral stories in hindi,लालच का फल पर कहानी,लालच का परिणाम,लालची आदमी की कहानी,लालची की कहानी,लालच पर छोटी कहानी

Cinnamon दालचीनी से होने वाले नुकसान साइड इफेक्ट के कारण

दालचीनी से होने वाले नुकसान साइड इफेक्ट के बारे में हम जानेंगे

cinnamon in hindi

दालचीनी हमारे भोजन का स्वाद तो बढ़ाती है और यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी काफी ज्यादा उपयोगी सिद्ध होती है लेकिन दालचीनी के साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं आज हम इस लेख के माध्यम से यही आपको बताने जा रहे हैं इस दालचीनी के क्या साइड इफेक्ट होते हैं।

dalchini ke nuksan

1:- दालचीनी के साइड इफेक्ट

दालचीनी को औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है और मसाले के रुप में भी Cinnamon का प्रयोग किया जाता है जब हम dalchini का प्रयोग मसाले के रूप में करते हैं तो यह हमारे भोजन का स्वाद बढ़ा देती है और जब हम इसका आयुर्वेद में इस्तेमाल करते हैं तो यह मोटापा डायबिटीज जोड़ो का दर्द इन सब में काफी ज्यादा फायदेमंद होती है लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनको नुकसान भी हो सकता है आज हम यही आपको बता रहे हैं इसके बारे में कुछ पढ़ लेते हैं।

2:- पेट में जलन का होना

जिन लोगों को अल्सर जैसी कोई समस्या है यदि वो लोग इसका प्रयोग करते हैं तो उनको पेट में जलन होने जैसी समस्या हो जाती है वैसे भी यदि आप अधिक मात्रा में dalchini का प्रयोग करेंगे तो आपको पेट में जलन होगी इसीलिए किसी अच्छे चिकित्सक की निगरानी में दालचीनी का प्रयोग करें।

3:- त्वचा में जलन जैसा महसूस होना

जो लोग दालचीनी के तेल cinnamon oil का इस्तेमाल करना चाहते हैं यदि आप सीधा ( Cinnamon ) दालचीनी के तेल को अपनी त्वचा पर लगाएंगे तो आपको जलन हो सकती है इसीलिए dalchini का तेल का प्रयोग करें तो किसी अच्छे चिकित्सक से सलाह लेकर ही उसका प्रयोग करें।

4:- खून को पतला करें

दोस्तों यदि आप इसका का उपयोग करते है तो कई मामलों में देखा गया कि ( Cinnamon ) दालचीनी आपके ब्लड को पतला करती है इसीलिए यदि आप खून पतला करने की दवाई ले रहे हैं तो आप इस dalchini का प्रयोग करने के बजाए सीलोन दालचीनी का ही प्रयोग करें।

5:- लीवर का फेल हो जाना

यदि आप इसका उपयोग ज्यादा कर रहे हैं तो आपको थोड़ा संभल जाना चाहिए क्योंकि ( Cinnamon ) दालचीनी में कुमरिन (Coumarin) नाम का तत्व होता है जो कि यदि आप dalchini का अधिक सेवन करेंगे तो यह आपका लीवर फेलियर का कारण बन सकता है यदि आप dalchini का प्रयोग करना चाहे तो आपको सीलोन dalchini का प्रयोग करना चाहिए क्योंकि इसमें यह जो पदार्थ है वो काफी कम मात्रा में पाया जाता है।

6:- गर्भवती महिलाओं को इससे बचना चाहिए

आप गर्भवती हैं तो आपको Cinnamon का प्रयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए हालांकि देखा गया कि dalchini का प्रयोग जो है पेट दर्द की समस्या है या फिर गैस है उसको दूर करता है लेकिन जो गर्भवती महिलाएं हैं उनको गर्भावस्था के दौरान हैं उनको तो दालचीनी का प्रयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए कई मामलों में देखा गया है जो महिलाएं dalchini का प्रयोग करती हैं उनको समय से पहले ही प्रसव पीड़ा होनी शुरू हो जाती है इसीलिए गर्भवती महिलाओं को दालचीनी का प्रयोग से बचना चाहिए इसका प्रयोग नही करना चाहिए।

दोस्तों हमें उमीद है की आपको ये लेख पसंद आया होगा मित्रो आप इस लेख को सोशल मिडिया पर शेयर कीजिये ताकि अधिक से अधिक व्येक्तियो तक ये लेख पोहंच सके और दुसरे भी इससे फायेदा उठा सके

benefits of dalchini with milk, cinnamon oil ,dalchini ke side effect in hindi,dalchini ke nuksan in hindi,dalchini powder,cinnamon in hindi

Gud Khane Ke Fayde 99% लोग नही जानते गुड खाने के ये फाएदे

Gud Khane Ke Fayde गुड़ खाने के फायदे जो शायद आप नहीं जानते होंगे दोस्तों गुड के बारे में आप सभी जानते होंगे लेकिन उसके इतने बेहतरीन फायदे हैं आपकी सेहत के लिए उसमें सेहत का खजाना छुपा है यदि आप इन फायदों को जान ले तो आपके गुड खाए बिना नहीं रह पाएंगे तो चलिए दोस्तों जानते है गुड खाने के फाएदे Gud Khane Ke Fayde

gud khane ke fayde

1:- Gud Khane Ke Fayde पेट के रोगों को दूर करें

जी हां दोस्तों गुड पेट से संबंधित अनेक रोगों को दूर करने का काफी अच्छा और सस्ता साधन है यदि आपको कब्ज रहती है पाचन क्रिया आपकी अच्छी नहीं है पेट में गैस भी बनती है तो गुड आपकी इन सब समस्याओं को दूर कर सकता है जब भी आप खाना खाए तो गुड को उसके साथ में जरूर खाएं यह आपके भोजन पचाने में काफी ज्यादा मदद करेगा

2:- Gud Khane Ke Fayde पेट के रोगों को दूर करें

जी हां दोस्तों गुड पेट से संबंधित अनेक रोगों को दूर करने का काफी अच्छा और सस्ता साधन है यदि आपको कब्ज रहती है पाचन क्रिया आपकी अच्छी नहीं है पेट में गैस भी बनती है तो गुड आपकी इन सब समस्याओं को दूर कर सकता है जब भी आप खाना खाए तो गुड को उसके साथ में जरूर खाएं यह आपके भोजन पचाने में काफी ज्यादा मदद करेगा

3:- Gud Khane Ke Fayde गुड़ खाने से जोड़ों के दर्द से मुक्ति

दोस्तों लोगों को जोड़ो का दर्द काफी सताता है यदि आप रोज गुड के साथ में छोटा टुकड़ा अदरक का लेंगे इसको रोज खाएंगे तो आपको जोड़ों के दर्द से काफी ज्यादा राहत मिलेगी और काफी अच्छा महसूस करेंगे Gud Khane Ke Fayde

4:- Gud Khane Ke Fayde चेहरे की सुंदरता के लिए Gud Khane Ke Fayde

दोस्तों यदि आप को चेहरे की कोई भी समस्या है यदि आप अच्छा दिखना चाहते हैं तो आपको रोज गुड खाना चाहिए गुड़ खाने से आपका रक्त संचार बढेगा खून साफ होगा और जो हानिकारक टॉक्सिंस है वह बाहर निकल जाएंगे जिससे कि आपकी त्वचा की सफाई हो जाएगी और आप काफी अच्छा दिखाई देंगे तो दोस्तो रोज गुड खाइए तभी आप को उसके फायदे के बारे में पता चलेगा

5:- आयरन की समस्या है तो  गुड रोज खाइए

दोस्तों यदि आपके शरीर में आयरन की कमी हो गई है तो आपको रोज गुड खाना चाहिए इससे आपके शरीर में आयरन की कमी की पूर्ति हो जाएगी दोस्तों गुड एक अच्छा स्त्रोत है आपकी आयरन की कमी को पूरा करने का तो आपको रोज गुड खाना चाहिए

6:- थकान को जल्दी दूर करें

दोस्तों यदि आप जल्दी थक जाते हैं जल्दी आपको कमजोरी महसूस होती है आपका दम जल्दी फूलने लगता है तो आप को गुड़ का सेवन जरूर करना चाहिए यदि आप रोज गुड का सेवन करेंगे तो आप की कमजोरी दूर हो जाएगी आपके अंदर ताकत बढ़ेगी स्टेमिना बनेगा तो आपको गुड का सेवन जरूर करना चाहिए

7:- पाचन शक्ति को मजबूत करें

पेट के कीड़ो का घरेलु उपचार 

 दोस्तों यदि आपकी पाचन शक्ति कमजोर है खाया पिया नहीं पचता है तो गुड आपकी पाचन शक्ति को मजबूत कर देगा बस आपको इतना करना है सुबह शाम दोनो टाइम आप को गुड को चूसना है दोस्तों ऐसा करने से आपकी पाचन शक्ति काफी ज्यादा मजबूत हो जाएगी और आप को कब्ज जैसी समस्या भी नहीं रहेगी तो दोस्तों गुड का सेवन रोज करते रहिए

keywords:- gud khane ke fayde aur nuksan,gud khane se nuksan,khali pet gud khane ke fayde,
gud aur chana khane ke fayde,gur ke nuksan,gud ke nuksaan,chini ke nuksan,gud ka pani ke fayde,खाली पेट गुड़ खाने के फायदे,गुड़ खाने के नुकसान,गुड़ और दूध,गुड़ की चाय,गुड के औषधीय गुण,गुड़ के फायदे और नुकसान,गुड़ कब खाना चाहिए,गुड़ की चाय बेनिफिट्स,

5 Things You Should Not Do And Why 5 चीजें जो आपको नहीं करनी चाहिए और क्यों?

5 chije jo aapko nahi karni chahiye 5 चीजें जो आपको नहीं करनी चाहिए और क्यों?Personal development

5 Things You Should Not Do And Why

दोस्तों हम दिन भर ना जाने कैसे-कैसे काम करते रहते हैं हम ऐसे कई काम करते हैं जो कि हमारे कंट्रोल डेवलपमेंट के लिए बिल्कुल भी अच्छे नहीं होते हैं वैसे दोस्तों यदि बात की जाए तो काफी लंबी सूची तैयार की जा सकती है ऐसे कामों की जो आपको नहीं करनी चाहिए लेकिन आज हम यहां पर सिर्फ पांच ऐसी बातों पर बात करेंगे जो कि आपको नहीं करनी चाहिए. 5 Things You Should Not Do And Why  personal development

5 Things You Should Not Do And Why 5

5 चीजें जो आपको नहीं करनी चाहिए और क्यों?

1:- जो भी आप चाहते हैं उस पर आप पूरा Focus कीजिए

दोस्तों Law Of Attraction के सिद्धांत के बारे में आपने सुना होगा तो आप समझ पाएंगे किसी चीज पर आप अपना ध्यान केंद्रित करते हैं वह चीज आपको अवश्य ही मिलती है दोस्तों मैं आपको कुछ अच्छे से इस बारे में समझाता हूं

दोस्तों जो भी कुछ आप होते हुए देखना चाहते हैं उस पर अपना ध्यान केंद्रित कीजिए उस पर Focus कीजिए अपनी उर्जा को हमेशा उसी चीज पर लगा कर रखिए जो आप हासिल करना चाहते हैं 5 Things You Should Not Do And Why

उदाहरण के लिए यदि आप चाहते हैं कि आप की कमाई बढे तो आप कमाई के साथ साथ जो इस समय महंगाई बढ़ रही है इस पर ध्यान कभी मत केंद्रित कीजिए आपको अपना ध्यान सिर्फ और सिर्फ कमाई पर ही लगाना है तभी आप उस कमाई को हासिल कर पाएंगे कहने का मतलब सिंपल सा है आपको वह चीज सोचनी चाहिए जो आप हासिल करना चाहते हो उस चीज के बारे में ना सोचे जिसे आप हासिल ही नहीं करना चाहते हो 5 Things You Should Not Do And Why

2:- भूतकाल में जो बीत गया उस पर कभी भी अपना ध्यान मत लगाइए 5 Things You Should Not Do And Why

दोस्तों मान लीजिए past में आपके साथ कभी कुछ गलत हुआ हो कुछ ऐसा हुआ हो जो कि आपको दुखी करता हो ऐसी बातों के बारे में बार-बार बिल्कुल भी ना सोचे यदि आपसे कभी कुछ गलत हुआ तो आप उस पर एक बार अफसोस कर सकते हैं लेकिन बार-बार उस बारे में मत सोचिए

आपको हमेशा अपने भूतकाल की गलतियों से शिक्षा लेकर अपने भविष्य को सुनहरा बनाना चाहिए आपको हमेशा यही सोचना चाहिए कि आप वर्तमान में ऐसा कोई गलत काम नहीं करेंगे जिससे कि आपका भविष्य गलत हो

और यदि आप में भी यह आदत है कि आप अपना रोना बार-बार दूसरों के सामने रोते हैं तो लोग आपसे सहानुभूति नहीं करेंगे वह बल्कि आप से दूर रहने का प्रयास करेंगे इसलिए बार बार किसी के आगे रोए नहीं किसी के आगे बार बार अपना दुख प्रकट नहीं करें 5 Things You Should Not Do And Why

दोस्तों लोग दुनिया में खुश रहना चाहते हैं यदि आप बार-बार उनके आगे अपना दुख प्रकट करेंगे तो लोग आपसे दूरी बना लेंगे और आप हमेशा अपने Past में ही फंसे रहेंगे भविष्य के लिए कुछ भी अच्छा ना तो सोच पाएंगे ना ही कर पाएंगे इसलिए भूत और भविष्य के बारे में सोचने के बजाय हमेशा वर्तमान में ही जिए तभी आप अपना जीवन अच्छा बना पाएंगे

3:- किसी भी काम के लिए किसी दूसरे पर डिपेंड ना रहे personal development

दोस्तों अक्सर लोग काफी छोटे काम के लिए भी दूसरों पर डिपेंड रहते हैं हम हमेशा यह सोचते हैं कि हम एक छोटा सा काम खुद नहीं कर पाए बल्कि दूसरा व्यक्ति ही कर दे तो यह हमारी काफी गलत आदत है दोस्तों छोटे छोटे काम तो हमें खुद ही अपने करना चाहिए तभी आप बड़ा काम भी अपना खुद कर पाएंगे और जीवन में यदि आप अपना काम खुद नहीं कर सकते तो आप कभी भी जीवन में आगे नहीं निकल सकते क्योंकि आप की आदत हो जाती है छोटे काम दूसरों से करवाने की

सोचिए दोस्तों यदि आप छोटे छोटे काम नहीं कर पाएंगे बड़ा काम जीवन पर क्या कर पाएंगे छोटे काम भी अभी आप खुद नहीं कर सकते तो बड़ा काम भी अपने आप खुद ही नहीं कर पाएंगे इसीलिए दुनिया से आगे निकल जाएगी और आप पीछे ही रह जायेंगे इसलिए दोस्तों कभी किसी पर डिपेंड ना रहे हमेशा अपना काम खुद ही करना सीखिए यदि आप ऐसा करेंगे तो आपको जीवन में सफलता जल्दी मिलेगी

4:- दूसरों के सुख से दुखी होना इस आदत को बदलिए

दोस्तों काफी व्यक्तियों में एक समस्या देखने को मिलती है यह लगभग हर किसी को होती है हम हमेशा अपने दुख से दुखी नहीं होते बल्कि दूसरों के सुख से दुखी होते हैं जो कि हमारी success के लिए बिल्कुल गलत है

इसीलिए ऐसे व्यक्ति हमेशा दूसरों से पीछे रहते हैं दोस्तों अक्सर आपने देखा ही होगा या फिर आप की भी यह आदत है तो आप भी इस बात को महसूस करेंगे कि आप अक्सर दूसरों की कामयाबी से जलते हैं आपके जो करीबी हैं यदि वह आप से आगे निकल जाते हैं तो आप यही सोचते हैं हम उनको उनसे आगे क्यों नहीं निकल पाए वह हमसे आगे कैसे निकले और हमेशा इसी बात से जलते रहते हैं और खुद कभी आगे नहीं बढ़ पाते हैं कभी भी किसी की खुशी से ना जले तभी आप सही मायने में खुश रह पाएंगे और success हासिल कर सकेंगे

5:- दूसरों की बुराई में मजे Enjoy लेना personal development

दोस्तों काफी व्यक्ति ऐसे होते हैं जो हमेशा दूसरों की बुराई में मजे लेते हैं

मान लीजिए यदि आपने भी एसे है यदि आप दूसरों की बुराई में मजे लेते हैं तो आप जिंदगी में कभी भी आगे नहीं निकल सकते आप कभी भी वह सब सब हासिल नहीं कर सकते जो कि आप हासिल करना चाहते हैं यदि कोई व्यक्ति किसी की बुराई करता है और आप भी उस में मजा लेते हैं तो यह आपके भविष्य के लिए बिल्कुल ही गलत बात है आप कभी भी जीवन में खुशियां हासिल नहीं कर पाएंगे जो आप करना चाहते हैं इसीलिए दोस्तो दूसरों के बुराई में मजे लेने के बजाए हमेशा खुद अपने जीवन को पक्का करने के बारे में सोचिये

5 Things You Should Not Do And Why,10 Tips to Develop Pleasant Personality in Hindi,help,Self-confidence बढाने के 10 तरीके,Self Development in Hindi,Self Improvement Tips In Hindi, ,Personality Development,Self Improvement Tips,Hindi Career Quotes,Hindi Personal Development Quotes

How To Increase Height Hindi Me किसी भी उम्र में तेजी से लम्बाई बढाने के उपाए

How  To Increase Height Before 18

How To Increase Height दोस्तों हमारा शरीर बड़ा ही कमाल का है आप अपने शरीर को जैसा भी बनाना चाहते हैं वह वैसा ही बन जाता है और आप अपने शारीर पर ऐसे ऐसे बदलाव ला सकते हो कि आप सोच भी नहीं सकते ईश्वर ने हमारे शरीर में कितनी अनोखी ऊर्जा दी हैं कि आप उससे अपने शरीर में पूरी तरीके से परिवर्तन ला सकते हो. how to increase height in hindi 

ऐसे तो न जाने कितने काम है जो आप अपने शरीर के साथ कर सकते हो लेकिन अगर आपकी हाइट अच्छी है तो आप हर काम और भी बेहतरीन तरीके से कर सकते हो और आपनी जो पर्सनैलिटी है उस को सुधार सकते हो. how to increase height in hindi 

यदि आपकी हाईट अच्छी है तो आप अलग ही दिखाई दोगे दुनिया में यदि आपकी हाइट अच्छी है तो आपकी पर्सनैलिटी में काफी ज्यादा चार चांद लगा सकती है और आपको काफी अच्छा दिखा सकती है दुनिया के आगे.

काफी लोग यह सोचते हैं कि यदि आप की उम्र 20 से ऊपर चली जाती है तो आपकी हाइट नहीं बढ़ सकती यह लोगों में भ्रांतियां हैं आपकी जो हाइट बढ़ने की ग्रोथ है वह काफी धीमी हो जाती है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि आपकी हाइट नहीं बढ़ सकती

How to increase height in 1 week

हाइट का बढ़ना ना बढ़ना आपके जींस पर निर्भर करता है आपकी हाइट बढ़ेगी या नहीं यह आपके जींस पर निर्भर करेगा क्योंकि जो हमारा परिवार है जिनसे हमारे खून से संबंध है उनके ऊपर हमारी हट जाती है यदि आपके घर में आपके माता पिता की हाइट कम हो तो हो सकता है आपकी हाइट कम हो या फिर हो सकता आपके नाना नानी दादा दादी की हाइट कम हो तो आपकी भी हाईट कम हो

पर एक बात जो आप को सुकून देगी वह यह है कि आपकी हाइट बढ़ सकते हो चाहे आपके परिवार में हाइट कम ही क्यों न हो किसी की यदि आप अपनी हाइट ओर बढ़ाना चाहते हैं ताकि आप अच्छे दिखे और आपकी पर्सनैलिटी काफी अच्छी दिखे

जब भी आप किसी को देखते हो उनके लम्बाई अच्छी होती है तो आप का भी मन करता है कि आप इतनी सुंदर इतनी अच्छे देखो तो आपकी इच्छा होती है काश हमारी भी लम्बाई अच्छी हो यह बात तो आप भी स्वीकार जरूर करोगे

How to increase height before 18

यदि आपकी हाइट अच्छी है तो आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा आपका आत्मविश्वास बढेगा तो आप जो चाहे वह कर पाएंगे क्योंकि अभी आपका आत्मविश्वास अच्छा होगा तो आप वह सब भी कर सकते हो जो आप करना चाहते हैं इसलिए आपकी इच्छा है कि आप अपनी हाइट बढ़ाए आपकी इच्छा है कि आप भी अपनी पर्सनैलिटी को सुधारें तो आपको अपनी हाइट जरूर बढ़ानी चाहिए

यदि आप चाहते हो सच में चाहते हो कि आपकी हाइट बढे तो आपको अपने जीवन में काफी बदलाव लाना होगा आपको अपने खाने-पीने में उठने बैठने में सोने जागने में बदलाव लाना होगा तभी आप अपनी हाइट बढ़ा सकते हो how to increase height 

ध्यान रहे जब भी आप सोए तो बिलकुल सीधे होकर सोए आपकी जो रीड की हड्डी है बिल्कुल सीधी रहनी चाहिए तकिये का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें सोते हुए नरम गद्दे पर कभी भी ना सोए  हमेशा ध्यान रखे रीड की हडडी सीधी रहे कभी भी नरम चीज का सोने में इस्तेमाल ना करें जिससे कि आपकी जो रीड की हड्डी है वो मुड़े नहीं

और जब भी खाना खाए जमीन पर बैठकर खाना खाएं  और बिल्कुल सीधे बैठ कर खाना खाए ताकी रीड की हड्डी सीधी रहे how to increase height 

यदि आप बैठने का कोई काम करते हो तो आपको एक बात जरुर ध्यान में रखनी चाहिए आप जब भी बैठे कोई काम करें तो कमर गर्दन को बिल्कुल सीधा रखें अगर कोई काम ना करें यदि आप कमर गर्दन को सीधा रखते हैं तो आपको इसके 2 फायदे होंगे एक तो आपको काम करते समय नींद नहीं आएगी आलस नहीं आएगा दूसरा आपकी हाइट बढ़ने में कोई बाधा उत्पन्न नहीं होगी

और हजारों सालों से हमारी आयुर्वेद की किताबों में यह बात कही गई है कि हमेशा सीधे होकर बैठीये जब भी ध्यान किया जाता है उसमे बिल्कुल सीधे होकर ही बैठा जाता है कमर गर्दन सीधी रखने का अपना ही अलग महत्व है जो आज के लोग नहीं जानते इसीलिए उनको अनेक बाधाओं का सामना करना पड़ता है

How to increase height by acupressure

How To Increase Height Hindi Me

आपने एक्यूप्रेशर के बारे में तो सुना ही होगा एक्यूप्रेशर अपने देश भारत वर्ष की एक सबसे पुरातन स्वास्थ्य पद्धति है इसके द्वारा हमारे शरीर के अलग अलग पॉइंट पर अलग अलग केंद्रों पर दबाव बनाकर ऊर्जा को फैलाया जाता है जिससे कि रिजल्ट काफी जल्दी मिलते हैं और हर व्यक्ति काफी जल्दी ठीक होता है यदि आपकी हाइट कम है आप और हाइट बढ़ाना चाहते हैं यह आपकी एक थोड़ी ज्यादा है और आप अपनी हाइट बढ़ाना चाहते हैं तो आप एक्यूप्रेशर का सहारा ले सकते हैं एक्यूप्रेशर जब भी करें तो खाली पेट ही करें जिससे कि आपको इससे काफी ज्यादा फायदा मिलेगा how to increase height 

आपको बस इतना करना है जो अपना यह लेफ्ट हैंड है इसका जो अंगूठा है इसके ऊपर प्रेशर देना है और एक बार प्रेसर देकर छोड़ देना फिर दोबारा परेशर देना फिर छोड़ देना है इस तरीके से यदि आप परेशर देते रहेंगे तो आपको काफी ज्यादा फायदा मिलेगा यह काम आप अपने पैर के अंगूठे के साथ भी कर सकते हैं वहां पर भी इसी प्रकार प्रेशर दे छोड़ दे छोड़ दे आपको लगातार दो महीने तक करना है आप काफी अच्छे रिजल्ट मिलेंगे  और कुछ मुख्य बातों का आपको ध्यान रखना है हमेशा अच्छी चीज लेनी है increase height

जैसे कच्चे चने खाने हैं आपको देसी गाय का दूध मिल जाता है तो सबसे अच्छा है

इस लेख को शोशल मिडिया पर शेयर जरुर कीजिये

how to increase height by yoga,yoga for increasing height by baba ramdev,yoga to increase height fast,yoga to increase height after 20,yoga to increase height with pictures,yoga to increase height after 30,yoga to increase height after 21,yoga to increase height after 18,
yoga to increase height in a month,how to increase height in hindi,height in hindi language,
tips for height growth after 18,height increase tips in hindi video,tips for height growth after 22 in hindi,tips to increase height after 20,height badhane ke tips hindi me,speed height capsule side effect in hindi,height in hindi meaning,tips for height growth after 18,how to increase height after 18 in 1 month,how to increase height after 18 in 1 month for female,how to increase height after 18 by yoga,increase height quickly,how to increase height in 1 week,how to increase height before 18,height increase exercises,how to increase height after 21,

तोल मोल कर बोल बोले हुए शब्द वापस नहीं आते | Short Stories Motivational in Hindi

Short Stories In Hindi बोले हुए शब्द वापस नहीं आते

Short Stories Motivational in HindiShort Stories दोस्तों हमारी आज की जीवनशैली ऐसी हो गई है जिसमें कि हम किसी को कुछ भी बोल देते हैं हम सोचते नहीं कि हमारे मुंह से क्या निकलता हमें क्या कहना चाहिए और क्या नहीं कहना चाहिए इस पर हमें विचार करना जरूरी है काफी लोग होते हैं जो जल्दी से क्रोधित हो जाते हैं और उस क्रोध में आकर वह ना जाने क्या क्या अनाप-शनाप बोल देते हैं जो साफ दिल के होते हैं वह बाद में उस बात पर पछतावा करते हैं सोचते हैं कि मैंने ऐसा क्यों कहा दोस्तों कुछ भी कहिए कुछ भी करिए कितना भी आपको क्रोध है लेकिन कुछ समय तक यदि आप शांत रहे लेते हैं तो आप अपना जीवन सफल बना लेते हैं और दूसरों को कष्ट देने से बच जाते हैं दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसी ही कहानी बताने जा रहा हूं जिस को जानकर आप समझ पाएंगे कि बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते.Short Stories

Short Stories Motivational In Hindi

Short Stories

दोस्तों किसी गांव में एक किसान रहता था वह किसान 1 दिन किसी बात पर वह किसान काफी परेशान होता है कभी क्रोधित होता है उसको काफी गुस्सा आता है तो उसका पड़ोसी उसके पास में आता है किसी काम के लिए लेकिन वह किसान अपने पड़ोसी को अनाप-शनाप बक देता है तब बाद में उस किसान को पछतावा होता है वह सोचता है कि मैंने ऐसा क्यों कहा क्यों मैंने अपना गुस्सा अपने पड़ोसी पर निकाला  Short Stories In Hindi

तब वह जंगल में एक संत के पास जाता है और संत से कहता है कि मैंने अपने पड़ोसी को गलत सलत कहा उस पर अपना क्रोध निकाला मैं ऐसा क्या करूं कि मेरे बोले हुए शब्द वापस आ जाएं तब वह संत उस किसान को कहते हैं कि तुम काफी सारे पंख जमा करो और शहर के बीच चौराहे पर जाकर उनको रख दो किसान ऐसा ही करता है वह काफी सारे पंख इकट्ठा करता है और शहर के बीच चौराहे पर उनको रख कर आ जाता है अब जब वह संत के पास वापस आता है तो संत से कहता है कि जैसा आपने कहा है मैंने वैसा ही किया है short hindi stories with moral values

अब संत किसान को बोलते हैं कि अब तुम एक काम करो उन सभी पंखों को वापस ले आओ और किसान वापस उन पंखों को लेने शहर में जाता है पर तब तक हवाओं के झोंके के साथ में सारे पंख इधर से उधर बिखर जाते हैं और किसान खाली हाथ ही संत के पास वापस आ जाता है और संत को कहता है कि वहां मुझे कोई पंख नहीं मिला सब उड़ गए सब इधर से उधर बिखर गए तब संत बोलते हैं जैसे वह पंख बिखर गए उसी प्रकार जो शब्द तुमने बोले वह भी बिखर चुके हैं वह कभी वापस नहीं आएंगे इसीलिए कभी भी कुछ भी बोलो तो सोच कर ही बोलो  Short Stories

यह कहानी हमें शिक्षा देती है कि हमें क्रोध वश में आकर किसी पर कुछ भी नहीं बोलना चाहिए क्योंकि बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते इसीलिए हमेशा सोच समझ कर ही बोलना चाहिए आप कभी किसी को क्रोधवश किसी को कुछ गलत बोल देते हो तो उसे क्षमा मांग लेते हो लेकिन मनुष्य का स्वभाव ऐसा है कि उसे कोई ना कोई बात दुखी कर जाती है कष्ट पहुंचा जाती है इसीलिए सदैव हंसमुख रहिए और क्रोध हेतु प्रयास कीजिए कि कुछ समय शांत रहिए इसी प्रकार धीरे धीरे प्रयास करते करते आपका क्रोध शांत होने लग जाएगा और आप किसी को गलत बोलने से बच जाएंगे तो दोस्तों यह कहानी कैसी लगी आपको यह हमें कमेंट के माध्यम से बताइए और इस कहानी को लाइक कीजिए सोशल मीडिया पर शेयर कीजिए ताकि अधिक से अधिक व्यक्ति यह कहानी पढ़ सकें जान सके और क्रोध से बच सकें  Short Stories

keyword:- short hindi stories with moral values,short moral story in hindi for class 10,moral stories in hindi,hindi story book,story in hindi ,stories in hindi ,short moral stories in hindi,short hindi stories with moral values,story for kids in hindi,motivational stories in hindi,
very short story in hindi, short stories for kids in hindi,very short hindi moral stories,
panchatantra stories in hindi,hindi moral stories for students, a short story in hindi, hindi short stories in hindi language with morals, inspirational stories in hindi,

hindi short stories for class 1,moral stories in hindi for class 9,funny story hindi moral,moral stories in hindi for class 8,moral stories in hindi for class 7,hindi moral stories for class 1

सम्पूर्ण चाणक्य नीति Chanakya Niti Quotes In Hindi For Success

Chanakya Niti In Hindi

chanakya niti चाणक्य नीति दोस्तों चाणक्य नीति एक ऐसी पुस्तक है एक ऐसी रचना है जो कि हमें काफी अच्छा जीवन जीने की सीख देती है आचार्य चाणक्य एक महान व्यक्ति थे इस आर्यवर्त भूमि के दोस्तों आचार्य चाणक्य ने इस पूरे भारतवर्ष को अखंड भारत बना दिया जो कि टूट रहा था कुछ मूर्ख राजाओं के कारण दोस्तों आचार्य चाणक्य ने जो चाणक्य नीति लिखी उस को जानकर आप अपना जीवन बदल सकते हैं और काफी कुछ नया सीख सकते हैं दोस्तों आज इस लेख के माध्यम से मैं अमित आर्य आपको चाणक्य नीति की कुछ अच्छी जानकारियां मैं आज आपको दूंगा दोस्तों चाणक्य नीति को आप अवश्य ही पढ़े मैंने नीचे लिंक दिया है   इस पुस्तक को आप जरुर पढ़िए तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं इस लेख को chanakya niti chanakya niti

  • आचार्य चाणक्य कहते हैं कि शरीर नाशवान है धन-संपत्ति भी हमेशा साथ रहने वाली नहीं है मृत्यु सदा सिरहाने खड़ी है अतः  धन धर्म का संचय धर्म का आचरण करना चाहिए

 

 

  • भोजन के लिए निमंत्रण ब्राह्मणों के लिए उत्सव की भांति है चरने के लिए नई ताजा घास की प्राप्ति होना गायों के लिए उत्सव के भाँती है पति का उत्साह से युक्त रहना ही पत्नियों के लिए उत्सव की भाती है और मेरे लिए भयंकर मार काट उत्सव की भाँती है 

पुनर्जन्म का रहस्य 

 

  • जो व्यक्ति किसी दूसरे की स्त्री को माता की भांति पराए धन को मिट्टी के ढेले की भांति और समस्त प्राणियों को अपनी आत्मा की भांति देखता वह समझता है वस्तुतः वही ठीक-ठाक देखने वाला होता है

 

  • बिना  सोचे समझे अनाप शनाप व्यय  करने वाला सहायक ना होने पर भी लड़ने-झगड़ने वाला और सब वर्णों की स्त्रियों से सहवास करने वाला व्यक्ति शीघ्र ही नाश को प्राप्त होता है

 

  • विद्वान व्यक्ति को अपने आहार भोजन के बारे में अधिक सोच विचार नहीं करना चाहिए उसे तो केवल धर्म का ही चिंतन करना चाहिए क्योंकि मनुष्य का आहार तो उसके जन्म के साथ ही उत्पन्न हो जाता है

 

  • पानी की एक एक बूंद गिरने से घड़ा भर जाता है इसी तरह धीरे धीरे अभ्यास करने से सब विद्याओं की प्राप्ति हो जाती है तथा थोड़ा थोड़ा करके धर्म और धन का संचय भी हो जाता है

Chanakya’s Niti Darpan

  • अच्छे कार्यों को करते हुए व्यक्ति का एक मुहूर्त भर भी जीवित रहना अच्छा है परंतु  इही लोक और परलोक विरोधी दुष्कर्म करने वाले का तो कल्प भर जीवित रहना भी बेकार है

 

  • बीती हुई बात का शोक कभी नहीं किया जाना चाहिए और भविष्य में क्या होगा इसे सोच कर भी चिंता नहीं करनी चाहिए बुद्धिमान लोग वर्तमान काल के अनुसार कार्य में जुट जाते हैं

  

  • बुद्धिमान लोग सज्जन पुरुष और पिता यह स्वभाव से ही संतुष्ट रहने वाले होते हैं बंधु-बांधव खान पान से और पंडित गण मधुर वाणी से प्रसन्न होते हैं

Chanakya Niti Quotes In Hindi For Success

  • महात्माओं के चरित्र बड़े विचित्र ही होते हैं जिनके के समान मानते हैं किंतु उसके भार से नम्र हो जाते हैं

 

  • आचार्य चाणक्य कहते हैं कि भाग्य के सहारे रहने वालों का नाश हो जाता है ऐसा बताया गया है व्यक्ति को मुसीबत आने से पहले उससे बचने का हल सोच लेना चाहिए

 

  • आचार्य चाणक्य कहते हैं कि राजा के धार्मिक होने पर प्रजा धर्म परायण होती है राजा के पापी होने पर प्रजा पापी तथा राजा के उदासीन होने पर प्रजा उदासीन होती है  प्रजा राजा का अनुसरण करती है जैसा राजा होता है वैसी ही प्रजा भी हो जाती है

सम्पूर्ण चाणक्य नीति

  • दुष्ट व्यक्ति दूसरे के यस रूपी अग्नि से जलते हुए जब उस पद को प्राप्त करने में असमर्थ रहते हैं तब वे उस की निंदा करने में प्रवृत्त हो जाते हैं

Chanakya’s niti darpan, Chanakya neeti bengali, Chanakya neeti amazon

  • मानव के बंधन और मोक्ष का कारण केवल मन ही है विषयों में फंसा हुआ मन व्यक्ति के बंधन का कारण होता है और विषय वासनाओं से शून्य मन व्यक्ति के मोक्ष का कारण होता है

 

  • जैसे हजारों गायों में भी बछड़ा अपनी माता को पहचान कर उसी के पास जाता है उसी प्रकार व्यक्ति जो भी कर्म करता है वह कर्म भी उसके पीछे पीछे चलता है अर्थात व्यक्ति को अपने कर्मों का फल भोगना अवश्य ही पड़ता है आचार्य चाणक्य कहते हैं

chanakya quotes in hindi for success,chanakya thoughts,chanakya niti in odia,chanakya’s niti darpan,chanakya neeti bengali,chanakya neeti amazon,chanakya books,chanakya neeti by bk chaturvedi pdf,Chanakya Niti for Success in Life